Bhaiya Dhad Dhad Karle

Original Song Courtesy
Movie : Toilet Ek Prem Katha
Song : Bhaiya Dhad Dhad

Lyrics

सुबह हुई हाथ में, लोटा लेके निकल गयो,
खाया पिया शाम को, उसको निकालने चल दियो,
कल जो खाया था निकलेगा आज, झाड़ियों की आड़ में पेट हो जाएगा साफ़,
भैया धाड़ धाड़ धाड़ करले, अब तो टॉयलेट का जुगाड़,
भैया धाड़ धाड़ धाड़ करले, अब तो टॉयलेट का जुगाड़,
महक रही है देश की गालिया, सास लेना हो गयो बहाल,
स्वच्छ बनेगा भारत खुद ही, देख ले अपने घर का हाल,
नदी किनारे जो बैठेगा, सब पानी में मिल जावेगो,
वही बहेगा नलको से फिर, उसको ही तू पी जावेगो,
कब तक लेगा तू पेड़ो की आड़,
भैया धाड़ धाड़ धाड़ करले, अब तो टॉयलेट का जुगाड़,
भैया धाड़ धाड़ धाड़ करले, अब तो टॉयलेट का जुगाड़..

Related posts

Leave a Comment